यश के बॉडीगार्ड थे केजीएफ के खूंखार विलन ‘गरुड़ा’ ,जानिए कैसे बन गया पर्दे के सबसे बड़ा विलन

KGF 2 ने सरे रिकॉर्ड तोड़ दिए है,फिल्म ज़बरदस्त कमाई कर रही है.अभी फिल्म ने जो की हिन्दी में है,उसने 5 दिन में 219 करोड़ से ज़्यादा कमा लिये हैं. माना जा रहा है, अगले दो दिनों में ये ‘दंगल’ के कलेक्शन को पीछे छोड़ देगी. और फिल्म को लेकर तभी से

ये कयास लगाए जा रहे थे की ये फिल्म सुपर डुपेर हिट रहेगी,और ऐसा हुआ भी,आज इस फिल्म से जुड़े कुछ ख़ास पहलु हम आपके सामने लेकर आये है, फिल्म में विलेन का रोल करने वाले गरुड़ की ,जी इनकी कहानी काफी दिल चस्प है तो आइये जानते है इनके बारे है.

KGF-1 के विलेन की चर्चा इस फिल्म में यश के बाद सबसे ज़्यादा रही है,फिल्म में विलेन गरुड़ा का रोल भी काफी ख़ास है,और उनको इसके लिए तारीफ भी मिल रही है,पर ये रोल करना उनके लिए आसान नहीं था. केजीएफ में गरुड़ा का किरदार निभाया है रामचन्द्र राजू ने.गोल्ड माइन के मालिक सूर्यवर्धन का बेटा है, जिसे देखकर लगता है, फ़िल्म में कोई यदि रॉकी भाई को टक्कर दे सकता है तो सिर्फ़ गरुड़ा.और रामचंद्र राजू ने इस किरदार को जीवंत करने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

दरअसल राम १सुपरस्टर यश के बॉडगॉर्ड है.1980 में रामचंद्र राजू का बेंगलुरू में जन्म हुआ. 2006 में वो सुपरस्टार यश के बॉडीगार्ड बन गए. 12 साल तक उनके साथ रहे. यश और राजू के बीच कभी फिल्मों में काम करने को लेकर बात होती थी. फिल्मो में काम करना चाहते थे और किस्मत ने उन्हें ये मौका भी दिया, डायरेक्टर प्रशांत नील बैठे KGF की स्क्रिप्ट यश को सुना रहे थे. वहां रामचंद्र भी थे,उन्होंने रामचंद्र को देखा और यश से पूछा: ‘

क्या मैं आपके KGF 2 बॉडीगार्ड को फिल्म में कोई रोल दे सकता हूं’. यश बॉस ने यस नील बोल दिया. जब रामचन्द्र राजू से इस बारे में बात की गयी तो उन्होंने तुरंत ही हां मी भर दी, लेकिन ये सब इतना आसान नहीं था,राजू ने पहले कभी एक्टिंग नहीं की थी

,अभिनय का ना आना उनके सपने के बिच सबसे बड़ा रोड़ा था,लेकिन कहते है ना जब किस्मत पलटी कहती है तो फिर कोई रोड़ा नहीं अटकता, डायरेक्टर नील बोले फिकर नॉट. उन्होंने एक वर्कशॉप अरेंज की. और एक साल की कठिन ट्रेनिंग में रामचंद्र ने ऐक्टिंग सीखी,और एक साल की कड़ी म्हणत के बाद वो गरुड़ के रोल के लिए तैयार हो गए,और आज आप के सामने है ।

रामचंद्र यश के बारे में कहते हैं:

मैं उनका बॉडीगार्ड ज़रूर था, पर वो मेरे अच्छे दोस्त हैं. उनके बिना गरुड़ा का रोल करना संभव नहीं था. उन्होंने मुझसे कहा था, तुम सिर्फ़ ऐक्टिंग करो. बाक़ी सब मुझ पर छोड़ दो.गरुड़ा के रोल ने उन्हें रातोंरात स्टार बना दिया.

उनका नाम ही पड़ गया गरुड़ा राम. वो कहते हैं,KGF रिलीज होने के पहले मैं राम था,अब गरुड़ा राम हो गया हूं.KGF की शूट के दौरान भी अगर आप गौर करे तो यश के कई इंटरव्यूज़ आप रामचंद राजू को बौडीगॉर्ड के तोर पर यश के पीछे खड़ा देख सकते है ।

 

 

 


Posted

in

by

Tags: