भारतीय लड़के पर आया दिल! 5000 KM दूर से शादी करने आई विदेशी दुल्हन

तुर्की की एक महिला (Turkish Woman) का दिल आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के युवक पर आ गया. जिसके बाद वो महिला हजारों किलोमीटर की दूरी तय करके भारत आई और फिर युवक के साथ शादी रचा ली.

तुर्की की एक महिला (Turkish Woman) का दिल आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के युवक पर आ गया. जिसके बाद वो महिला हजारों किलोमीटर की दूरी तय करके भारत आई और फिर युवक के साथ शादी रचा ली. हालांकि, दोनों ही 2 साल पहले सगाई कर चुके थे, लेकिन परिवार की मंजूरी मिलने का इंतजार कर रहे थे. जैसे ही दोनों के पैरेंट्स ने इजाजत दी, वे शादी के बंधन में बंध गए. आइए जानते हैं इस लव स्टोरी के बारे में…

दरअसल, आंध्र प्रदेश के गुंटूर (Guntur) के रहने वाले मधु संकीरथ (Madhu Sankeerth) की मुलाकात 2016 में तुर्की की गिजेम (Gijem) से हुई थी. दोनों एक काम के सिलसिले में मिले थे लेकिन धीरे-धीरे दोस्त बन गए.

इसी बीच संकीरथ काम के लिए तुर्की चले गए, जहां से उनकी यह दोस्ती प्यार में बदल गई. तुर्की में गिजेम ने संकीरथ की काफी मदद की और दोनों का प्यार परवान चढ़ने लगा. ऐसे में संकीरथ और गिजेम ने अपनी दोस्ती को अगले स्तर पर ले जाने का फैसला किया.

परिवार वाले पहले शादी के खिलाफ थे

कपल ने शादी करने के बारे में जब अपने परिवार वालों से कहा तो शुरू में उन्होंने इससे इनकार कर दिया. गिजेम और मधु संकीरथ के परिवार इस शादी के खिलाफ थे. लेकिन आखिरकार, दोनों को अपने माता-पिता की मंजूरी मिल गई और 2019 में उन्होंने सगाई कर ली.

संकीरथ और गिजेम 2019 में सगाई के बाद 2020 में ही शादी करना चाहते थे, लेकिन इस दौरान कोरोना महामारी आ गई और तमाम तरह की पाबंदियां लागू होने से उनका प्लान चौपट हो गया. हालांकि, इस साल जुलाई में जब कोरोना का प्रकोप थोड़ा कम हुआ तो दोनों ने पहले तुर्की में शादी की.

इसके बाद अब (मंगलवार को) संकीरथ और गिजेम ने गुंटूर में पारंपरिक तेलुगु रीति-रिवाज में भी शादी की. दोनों की शादी इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है. काफी लोग ‘विदेशी बहू और देसी दूल्हे’ को आशीर्वाद देने पहुंच रहे हैं.

कितनी है तुर्की से भारत की दूरी?

Map Data के मुताबिक, तुर्की से Guntur की दूरी 5 हजार किलोमीटर से अधिक है. विमान से करीब 8 घंटे लंबा सफर होता है. ऐसे में शादी के लिए जब इतनी दूर से दुल्हन आई तो आसपास के इलाके में चर्चा होना स्वभाविक है.


Posted

in

by

Tags: