कभी पैसों की किल्लत से भूखे रहकर गुजारी रातें, कुछ ऐसी है रेमो डिसूजा के संघर्षों की कहानी

कभी पैसों की किल्लत से भूखे रहकर गुजारी रातें, कुछ ऐसी है रेमो डिसूजा के संघर्षों की कहानी

बॉलीवुड इंडस्ट्री के मशहूर कोरियोग्राफर और डायरेक्टर रेमो डिसूजा आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है। उन्होंने अपनी मेहनत के बलबूते पर बॉलीवुड इंडस्ट्री में एक बड़ा मुकाम हासिल किया है और आज वह डांस के बादशाह कहे जाते हैं। इसके अलावा उन्होंने कई फिल्मों को डायरेक्ट भी किया है जो बॉक्स ऑफिस पर सफल साबित हुई है।

हालांकि बॉलीवुड इंडस्ट्री में यह मुकाम हासिल करने के लिए रेमो डिसूजा को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा। कई रातें उन्होंने भूखे सो कर गुजारी। मुंबई की सड़कों पर काम के लिए भटकना और फिर बुलंदी तक पहुंचना रेमो के लिए इतना आसान नहीं था। आइए जानते हैं रेमो डिसूजा के जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें।

remo dsouza

ये है रेमो डिसूजा का असल नाम
2 अप्रैल 1972 को बेंगलुरु में जन्मे रेमो डिसूजा का असली नाम रमेश गोपी है। रेमो के असल नाम के बारे में बहुत कम ही लोग जानते हैं। रेमो ने अपनी पढ़ाई गुजरात के जामनगर से की। इसके बाद वह बीच में ही पढ़ाई छोड़ डांस के लिए मुंबई आ गए।

remo dsouza

हैरानी वाली बात यह है कि रेमो डिसूजा ने अभी तक डांस की कोई स्पेशल ट्रेनिंग नहीं ली, लेकिन वह बॉलीवुड इंडस्ट्री के एक मशहूर डायरेक्टर है और कई लोगों को अपनी उंगलियों पर नचाते हैं। कहा जाता है कि जब रेमो डिसूजा मुंबई आए तो उनके पास खाने तक के पैसे नहीं थे। ऐसे हालात में उन्होंने भूखे रहकर कई दिनों तक मुंबई की सड़कों पर रातें गुजारी।

remo dsouza

 

इस फिल्म ने बदली रेमो डिसूजा की किस्मत

आमिर खान और उर्मिला मातोंडकर की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘रंगीला’ में रेमो को डांस करने का मौका मिला और यह फिल्म उनके करियर की टर्निंग प्वाइंट साबित हुई। यहां पर वह कोरियोग्राफर अहमद खान को असिस्टेंट करने लगे।

इसके बाद उन्हें सोनू निगम का एल्बम ‘दीवाना’ कोरियोग्राफ करने का मौका मिला जो सुपरहिट साबित हुआ। इसके बाद रेमो ने फिल्म ‘कांटे’ के आइटम नंबर ‘इश्क समंदर’ को कोरियोग्राफ किया जिसे खूब पसंद किया गया और फिर उन्हें कई ऑफर आने लगे।

remo dsouza

इन फिल्मों का कर चुके हैं निर्देशन

बता दें, अब तक रेमो डिसूजा अपने करियर में कई हिट गानों को कोरियोग्राफ कर चुके हैं जिसके लिए उन्हें कई अवार्ड भी हासिल हुए हैं। उन्होंने फिल्म एबीसीडी-2 का निर्देशन भी किया है जो बॉक्स ऑफिस पर असफल साबित हुई। इस फिल्म ने करीब 100 करोड से भी ज्यादा का कलेक्शन किया था। इसके अलावा उन्होंने अपने करियर में ‘रेस-3’ ‘फालतू’ और ‘एबीसीडी’ को भी निर्देशित किया है।

remo dsouza

बुरे वक्त में पत्नी लिजेल ने दिया हर कदम पर साथ
रेमो डिसूजा कई रियलिटी शो में बतौर जज भी दिखाई दे चुके हैं। एक शो में उन्होंने पत्नी लिजेल के बारे में खुलासा किया था कि, “मेरी पत्नी एक सुपरवूमन है। वह जिस तरीके से घर, बच्चा, ऑफिस और फिल्म सबकुछ मैनेज करती हैं। मैं इस बात के लिए उन्हें जितना भी थैंक्यू बोलू कम है। वह एक सुपवूमन है।”

remo dsouza

इस दौरान रेमो ने बताया कि, लिजेल ने उनके बुरे वक्त में भी कभी उन्हें अकेला नहीं छोड़ा। रेमो अपनी पत्नी लिजेल से तीन बार शादी कर चुके हैं। उन्होंने साल 2019 में शादी की 20वीं सालगिरह पर लिजेल से तीसरी बार शादी रचाई थी जो ईसाई रीति रिवाज से पूरी की गई। रेमो और लिजेल 2 बच्चों के माता-पिता हैं। उनके बेटे का नाम ध्रुव और गेब्रियल है।

remo dsouza

pinal

Leave a Reply

Your email address will not be published.