शनिदेव हो रहे हैं मकर राशि में व्रकी, अगले 6 माह इन राशियों के लिए कष्टकारी

ज्योतिष गणना के अनुसार, शनिदेव कुंभ राशि से निकलकर 12 जुलाई 2022, मंगलवार को मकर राशि में वक्री हो जाएंगे। इसके बाद इसी राशि में 25 अक्टूबर मार्गी हो जाएंगे। फिर 17 जनवरी 2023 को पुन: कुंभ राशि में गोचर करेंगे।

ऐसे में शनि देव का वक्री होना कई राशियों के जीवन में खुशियां लेकर आएगा और कई राशियों के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, शनि के मकर राशि में वक्री होने से कुछ राशियों के जीवन में काफी उतार चढ़ाव आएगा।

वृषभ राशि

इस राशि में शनि नौवें स्थान में वक्री कर रहे हैं। ऐसे में इस राशि के जातकों के जीवन में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होगी। किसी भी कार्य को करने में अड़चन आएगी। किसी काम को लेकर किसी लंबी यात्रा में जाना पड़ सकता है। अगर किसी भी तरह का बिजनेस शुरू करने का प्लान है, तो थोड़ा सा इंतजार करना बेहतर होगा, वरना हानि का सामना करना पड़ सकता है।

मिथुन राशि

मिथुन राशि में शनिदेव आठवें स्थान में गोचर कर रहे हैं। ऐसे में इस राशि में शनि की ढैय्या का असर रहेगा। बनते हुए काम बिगड़ेंगे। ऐसे में व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक और आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। धन लाभ काफी मुश्किल से मिलेगा। बनते हुए काम बिगड़ सकते हैं।

कन्या राशि

इस राशि में शनिदेव पांचवें स्थान में गोचर कर रहे हैं। ऐसे में इस राशि के जातकों की सेहत पर बुरा असर पड़ेगा। इसके साथ ही कहीं पर निवेश करना का सोच रहे हैं, तो थोड़ा सा इंतजार करना बेहतर होगा। शनि के प्रकोप के कारण घर-परिवार में क्लेश बढ़ जाएगा। वैवाहिक जीवन में किसी न किसी तरह की टेंशन बनी रहेगी।

मकर राशि

शनि इस राशि के लग्न भाव में वक्री हो रहे हैं। ऐसे में इस राशि में शनि के साढ़े साती का प्रभाव बना रहेगा। ऐसे में इस राशि के जातकों के जीवन में कई तरह के उतार चढ़ाव आएंगे। मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। दांपत्य जीवन में कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि कोई भी काम या फैसला सोच समझ कर करें।

कुंभ राशि

इस राशि में शनिदेव बारहवें भाव में वक्री हो रहे हैं। ऐसे में इस राशि में शनि की साढ़े साती रहेगी। साढ़े साती के कारण इस राशि के जातकों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। व्यापार और नौकरी में कई समस्या उत्पन्न हो सकती है। पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर गलतफहमी बढ़ सकती है। सेहत का खास ख्याल रखने की जरूरत है। क्योंकि कोई पुराना रोग दोबारा उभर सकता है।


Posted

in

by

Tags: