इस विधि से नियमित रूप से करें मेथी दाना का सेवन, शरीर में कोई रोग नहीं रहेगा, आप पूर्ण रूप से स्वस्थ हो जाएंगे।

अगर हम अपने पूर्वजों की बात करें तो पहले के समय में लोगों को 70 साल की उम्र तक कोई शारीरिक या मानसिक पीड़ा नहीं होती थी। उनका शरीर इतना मजबूत था कि कोई भी बीमारी उनके शरीर में प्रवेश नहीं कर सकती थी। इस सख्त शरीर के पीछे का राज है इनका खान-पान।

पुराने जमाने में आपको ऐसा फास्ट फूड नहीं मिलता था लेकिन आपको शुद्ध, देसी और शुद्ध भोजन मिलता था जो आपके स्वास्थ्य को लंबे समय तक स्वस्थ रखता था।

अगर आप भी वर्तमान समय में अपने शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं और मधुमेह, रक्तचाप, हृदय रोग, जोड़ों के दर्द आदि समस्याओं से पीड़ित नहीं होना चाहते हैं तो नियमित रूप से मेथी का सेवन करना शुरू कर दें।

मेथी का सेवन करने के फायदे:

दोस्तों मेथी जितनी उम्र हो उतनी ही लें और धीरे-धीरे और नियमित रूप से इसका सेवन करें। इस मेथी दाना का सेवन नियमित रूप से सुबह खाली पेट करना चाहिए।

अगर आपको चबाने में कोई दिक्कत हो तो इन्हें पानी की मदद से निगल लें। ऐसा करने से आप स्वस्थ और फिट रहते हैं।

इसके अलावा, मेथी के बीज के नियमित सेवन से मधुमेह, जोड़ों का दर्द, सूजन, उच्च रक्तचाप, अपच, बलगम की समस्या, साइटिका, घुटने का दर्द, अंगों का सुन्न होना, मांसपेशियों में खिंचाव और भूख न लगना जैसी समस्याओं का खतरा कम हो सकता है।

जैसे जी मिचलाना, बार-बार पेशाब आना, चक्कर आना आदि और आपका शरीर ऊर्जावान हो जाता है।

मेथी दाना सेवन करने की विधि:

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मेथी के बीज का सेवन विभिन्न रोगों के निदान के लिए विभिन्न तरीकों से किया जाता है।

आप मेथी के दानों को पानी में भिगोकर उनका सेवन कर सकते हैं, आप मेथी के बीजों को अंकुरित करके निचोड़ कर उनका सेवन कर सकते हैं, आप मेथी के दानों को पानी में उबालकर उसका सेवन कर सकते हैं।

इसके अलावा, आप खीचड़ी-कढ़ी में मेथी दाना डालकर इसका सेवन कर सकते हैं, आप मेथी के दानों को भून सकते हैं, कुचल सकते हैं, पीसकर पाउडर बना सकते हैं, मेथी के दानों की लाड़ बनाकर इसका सेवन कर सकते हैं.

इसके अलावा आप मेथी के बीज की चाय और काढ़ा भी बनाकर इसका सेवन कर सकते हैं। ये सभी विधियाँ उत्तम और सरल हैं।


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *