सुबह उठते ही सबसे पहले करें ये काम, मां लक्ष्मी की रहेगा हमेशा कृपा

आज के समय में हर किसी की चाहत होती है कि वह खुशहाली जीवन जिएं और जिंदगी में कभी भी पैसों की तंगी का सामना न करना पड़े। लेकिन कई बार अधिक मेहनत करने के बावजूद अंत में बचत कुछ भी नहीं होती है। ऐसी स्थिति में व्यक्ति निराशा की ओर बढ़ जाता है

और शारीरिक और मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कई बार मेहनत के साथ-साथ भाग्य का साथ होना बेहद जरूरी है। लेकिन इसके साथ ही देवी-देवता की कृपा होना बेहद जरूरी है। ऐसे में ज्योतिष शास्त्र में कुछ उपाय बताए गए हैं

जिन्हें करके व्यक्ति हर क्षेत्र में सफलता पाने के साथ-साथ आर्थिक स्थिति को मजबूत कर सकता है। जानिए ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सुबह उठते ही कौन से कार्य करने से मां लक्ष्मी हमेशा प्रसन्न रहती हैं।

हथेली देखते हुए कहें ये मंत्र

शास्त्रों के अनुसार, व्यक्ति के दिन की शुरुआत अगर अच्छी हो, तो पूरा दिन अच्छा जाता है। इसलिए सुबह उठते ही सबसे पहले अपने आराध्य का स्मरण करें। इसके बाद अपने हाथों को देखते हुए ‘कराग्रे वसते लक्ष्मी: करमध्ये सरस्वती। करमूले स्थ‍ितो ब्रह्मा प्रभाते करदर्शनम्।।’ मंत्र बोले। इसके बाद अपने हाथों को पूरे चेहरे पर फेर लें। ऐसा करने से मां लक्ष्मी के साथ-साथ ब्रह्मा और सरस्वती जी की कृपा बनी रहेगी।

धरती के छुएं पैर

हाथों को मुंह में फेरने के बाद पैरों को जमीन में रखने से पहले धरती के पैर छू लें। क्योंकि पृथ्वी हमारे भार को सहन करती हैं। इसलिए उन्हें शुक्रिया जरूर करें।

नमक के पानी से पोंछा लगाएं

वास्तु के अनुसार, घर में सुख-शांति बनाए रखने के साथ समृद्धि के लिए सूर्योदय से पहले पोंछा के पानी में नमक डालकर पूरे घर में पोंछा लगा दें। ए

सूर्यदेव को दें अर्घ्य

सूर्योदय से पहले उठकर सभी कामों से निवृत्त होकर स्नान कर लें। इसके बाद साफ सूखे कपड़े धारण कर लें। इसके बाद एक तांबे के लोटे में जल के साथ लाल रंग का फूल, सिंदूर आदि डालकर सूर्यदेव को अर्ध्य करें। इस दौरान ‘ऊँ सूर्याय नम:’ मंत्र बोले।

तुलसी को चढ़ाएं जल

सूर्य देव को जल अर्पित करने के साथ तुलसी के पौधे को भी जल अर्पित करें। इसके साथ ही घी का दीपक जला दें। ऐसा करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। तुलसी को जल चढ़ाते समय श्री हरि का मंत्र- ‘ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय’ का जाप भी करना चाहिए।


Posted

in

by

Tags: