घर-घर साबुन बेचकर स्कूल की फीस भरते थे गुलशन ग्रोवर, बेहद गरीबी में गुजरा था “बैडमैन” का बचपन

किसी भी फिल्म में हीरो और हीरोइन की भूमिका अहम मानी जाती है परंतु उतना ही ज्यादा विलेन का भी अहम रोल होता है। 80-90 के दशक में जो भी फिल्में बना करती थीं, उसमें खूंखार विलेन होते थे। उस समय के दौरान जब भी यह विलेन पर्दे पर आते थे तो ना सिर्फ हीरो में दहशत होती थी बल्कि लोग भी इन्हें पर्दे पर देखने के बाद थर-थर कांपने लगते थे।

वैसे देखा जाए तो बॉलीवुड इंडस्ट्री में एक से बढ़कर एक खूंखार विलेन हैं, जिन्होंने अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिलों में एक खास जगह बनाई है। उन्हीं में से एक 80 से 90 के दशक की फिल्मों में विलेन बनकर राज करने वाले अभिनेता गुलशन ग्रोवर हैं। जी हां, बॉलीवुड अभिनेता गुलशन ग्रोवर ने बॉलीवुड की कई फिल्मों में खलनायक का किरदार निभाकर “बैडमैन” का खिताब हासिल किया है।

21 सितंबर 1955 को नई दिल्ली में जन्मे गुलशन ग्रोवर की उम्र 66 साल की हो चुकी है परंतु आज भी यह काफी ज्यादा यंग लगते हैं। गुलशन ग्रोवर ने अपने फिल्मी करियर में ढेर सारी फिल्मों में काम किया है और यह ज्यादातर नेगेटिव किरदारों में नजर आए हैं। मौजूदा समय में भी गुलशन ग्रोवर किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं।

गुलशन ग्रोवर अपने फिल्मी करियर में 400 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके हैं। उन्होंने अपने जीवन में खूब नाम और पैसा कमाया है परंतु गुलशन ग्रोवर ने आज जो मुकाम हासिल किया है उसके लिए उन्हें अपने जीवन में बहुत मेहनत और संघर्ष करना पड़ा है।

जी हां, गुलशन ग्रोवर का बचपन बेहद गरीबी में बीता है। एक समय ऐसा था कि जब इनके पास स्कूल की फीस भरने तक के पैसे नहीं हुआ करते थे। तब यह बड़ी-बड़ी कोठियों में जाकर कपड़े धोने का साबुन बेच कर अपने स्कूल की फीस भरा करते थे।

अभिनेता गुलशन ग्रोवर ने किताब बैडमैन से अपनी जिंदगी से जुड़ी हुई कई बातें साझा की हैं। गुलशन ग्रोवर के अनुसार उनको बचपन में बेहद गरीबी का सामना करना पड़ा था। गुलशन ग्रोवर के मुताबिक, “मेरा स्कूल दोपहर में था। मैं स्कूल के बस्ते में अपनी यूनिफॉर्म रखा करता था।”

गुलशन ग्रोवर के अनुसार “मैं हर रोज बड़ी-बड़ी कोठियों में जाकर कपड़े धोने का साबुन बेचा करता था। मैंने कभी फिनाइल की गोलियां, तो कभी पोंछे भी बेचे थे।” गुलशन ग्रोवर के अनुसार, “वह इन पैसों से अपने स्कूल की फीस भरा करते थे।”

बता दें गुलशन ग्रोवर पढ़ाई लिखाई में बहुत होशियार थे। उन्होंने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से ग्रेजुएशन पूरी की है। कॉलेज के दिनों में ही वह थिएटर और नाटकों में हिस्सा लेते थे। गुलशन ग्रोवर ने मुंबई जाकर एक्टिंग स्कूल ज्वाइन किया, जिसमें वह कुछ दिन बाद खुद ही दूसरों को एक्टिंग की बारीकियां सिखाने लगे थे।

गुलशन ग्रोवर ने अपने करियर की शुरुआत फिल्म “हम पांच” से की थी। इसके बाद उन्होंने “रॉकी”, “सदमा”, “राम लखन” समेत कई फिल्मों में खलनायक का किरदार निभाया। गुलशन ग्रोवर के करियर का टर्निंग प्वाइंट फिल्म “राम लखन” साबित हुई थी।

इस फिल्म में वह केसरिया विलायती का किरदार निभाते हुए नजर आए थे। इस फिल्म में उनका डायलॉग बैडमैन काफी मशहूर हुआ था। इसके बाद से ही गुलशन ग्रोवर बॉलीवुड के “बैडमैन” के नाम से प्रसिद्ध हुए।

अगर हम गुलशन ग्रोवर की प्रसिद्ध फिल्मों की बात करें, तो उसमें हम पांच, सोनी महिवाल, दूध का कर्ज़, इज्जत, सौदागर, कुर्बान, राम लखन, इंसाफ कौन करेगा, अवतार, मोहरा, दिलवाले, हिंदुस्तान की कसम जैसी फिल्में शामिल हैं। बात करें गुलशन ग्रोवर के वर्क फ्रंट की तो वह आखरी बार “सड़क 2” में नजर आए थे। वह अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी में भी दिखे। इसके अलावा वह मुंबई सागा में भी नजर आ चुके हैं।


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *