ससुर हो तो ऐसा जिसने बेटे की मौत के बाद बहू की दूसरी शादी करवा कर संपत्ति भी कर दी दान

ससुर हो तो ऐसा जिसने बेटे की मौत के बाद बहू की दूसरी शादी करवा कर संपत्ति भी कर दी दान

ससुर हो तो ऐसा जिसने बेटे की मौत के बाद बहू की दूसरी शादी करवा कर संपत्ति भी कर दी दान

कोई इंसान

अपने नेक काम की वजह से लोगों की तारीफ बटोरता है तो कई लोग अपने बुरे कामों की वजह से जाने जाते हैं.आप लोगों ने ऐसी बहुत सी खबरें सुनी होंगी, जिसमें जब किसी महिला का पति इस दुनिया को छोड़ कर चला जाता है तो ससुराल वाले उस पर अत्याचार करते हैं,यहां तक कि घर में रहना भी विधवा महिला के लिए काफी मुश्किल हो जाता है परंतु आज हम आपको मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले के एक परिवार के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं.

इस परिवार की तारीफ

प्रदेश के चारों तरफ हो रही है.आपको बता दें कि झौंतेश्वर मवई गांव के डिप्टी रेंजर पद से रिटायर हुए रवि शंकर सोनी के बेटे संजय सोनी की एक महीने पहले सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी जिसकी वजह से घर में बहू और दो बच्चियों के सिर से पिता का साया उठ गया था.संजय सोनी की मृत्यु के पश्चात पूरे परिवार में मातम का माहौल बना हुआ था.सभी लोग बेहद दुखी थे.खासतौर से संजय सोनी की पत्नी पर क्या बीत रही होगी, यह शब्दों में बयां करना बेहद मुश्किल है.

रवि शंकर सोनी के बेटे

संजय सोनी की मृत्यु के बाद बहू का रो-रो कर बुरा हाल था.पति के जाने की वजह से वह पूरी तरह से टूट गईं थीं। रवि शंकर सोनी का ऐसा बताना है कि उनके बेटे संजय का विवाह 2008 में करेली की रहने वाली सरिता से हुई थी.

जिनकी दो बेटियां हैं.एक बेटी की उम्र 11 वर्ष और दूसरी बेटी की उम्र 9 वर्ष है। 25 सितंबर को बेटे संजय की एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी.इसी बीच रविशंकर ने एक बड़ा ही साहसिक कदम उठाया.जी हां, रवि शंकर ने अपनी बहू का दूसरा विवाह कराने का फैसला ले लिया.आपको बता दें कि गुरुवार के दिन परिवार ने अपने बहू की विदाई बेटी की तरह अपने घर से की.

आपको बता दें कि ससुर रविशंकर ने

अपनी बहू के पिता जी और भाइयों से कहा था कि वह लड़के की तलाश करें और रविशंकर ने खुद जाकर भी देखा की बहू जिस घर में जाएगी वह घर उसके योग्य है या फिर नहीं है.बहू के रिश्ते के लिए कई जगहों पर रिश्ता देखा गया.कई जगह बात हुई, परंतु लाख कोशिश करने के बावजूद भी कहीं पर रिश्ता पक्का नहीं हो पाया.

आखिर में

रिश्ते की तलाश करते करते जबलपुर के पास पिपरिया निवासी राजेश सोनी के साथ उसकी शादी करने का फैसला लिया. रवि शंकर सोनी जी का ऐसा कहना है कि उनके बेटे की जो कार थी,वह बहू के नाम कर दी। जब उनके बेटे संजय सोनी की मृत्यु हुई थी तब उसके पश्चात बीमा से 3 लाख 76 हजार रुपये मिले थे.वह सारा का सारा पैसा बहू के नाम जमा करा दिया.जो भी गहने जेवर थे वह भी बहू को दे दिए.बहू की दोनों बच्चियों के नाम FD भी करा दिया.

ससुर रविशंकर ने

राजेश सोनी के साथ बहु का रिश्ता तय कर दिया.आपको बता दें कि राजेश सोनी का जबलपुर में ट्रांसपोर्ट और रेस्टोरेंट का कारोबार है.इनकी पत्नी का लगभग 3 वर्ष पहले सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी.राजेश सोनी की कोई भी संतान नहीं है, उनके परिवार में दो भाई हैं.

pinal

Leave a Reply

Your email address will not be published.