ससुर हो तो ऐसा, बेटे की हुई मौत तो कर दिए बहू के हाथ पीले, कहा- अकेले जीवन काटना आसान नहीं..

एक सुखद जीवन जीने के लिए लाइफ में एक साथी का होना बेहद जरूरी होता है। अकेले जीवन बड़ा तन्हा बीतता है। खासकर तब जब आपको साथी मिल जाए और फिर आप उसे खो दे। यह दुख बहुत तकलीफ देता है।

ऐसे में एक नया साथ ढूंढकर नया जीवन शुरू करना बेहतर होता है। लेकिन इस समाज में मर्द के लिए दूसरी शादी करना आसान होता है, जबकि औरत के लिए मुश्किल। लेकिन अब समाज का नजरिया बदल भी रहा है।

ससुर ने कराई विधवा बहू की शादी

विधवा महिलाओं की शादी को लेकर ओडिशा के पूर्व विधायक नबीन नंदा ने एक मिसाल पेश की है। उन्होंने अपनी बहू मधुस्मिता की दूसरी शादी करवा दी। मधुस्मिता एक विधवा थी। उनके पति का मई 2021 में कटक के एक अस्पताल में निधन हो गया था।

वे 38 साल के थे। उन्हें कोरोना हुआ था। संक्रमण फेफड़ों तक पहुंच गया था। पूर्व विधायक ने बेटे को बचाने की बहुत कोशिश की, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

बेटे की मौत के बाद पूर्व विधायक ने समाज की कुप्रथा को तोड़ते हुए बहू की दूसरी शादी करवा दी। उन्होंने इस दौरान कहा कि बहू के सामने पूरी लाइफ पड़ी है। वह एकाकी जीवन कब तक जिएगी। इसलिए शादी का फैसला लिया। यह शादी भुवनेश्वर के नयापल्ली इलाके के एक मंदिर में हुई। शादी मधुस्मिता के मायके और ससुरवालवालों की मौजूदगी में हुई।

कुप्रथा को खत्म करने तोड़े समाज के रीति रिवाज

मधुस्मिता की दूसरी शादी की सलाह उनके माता-पिता ने अपने समधी (पूर्व-विधायक) को दी थी। कुछ विचार करने के बाद उन्होंने इसकी सहमति दे दी। दूल्हा खोजने का काम मधुस्मिता के मां बाप ने ही किया। वहीं ससुर ने शादी धूमधाम से करवाने का जिम्मा उठाया। शादी 24 जनवरी, राष्ट्रीय बालिका दिवस पर सम्पन्न हुई। इस शादी की सूचना देते हुए पूर्व विधायक ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट भी लिखा।

पूर्व विधायक ने लिखा – आज का दिन हमेशा याद रहेगा। मैंने सही किया या गलत, ये पता नहीं। लेकिन रीति-रिवाजों से बाहर निकलते हुए अपने स्व. बड़े बेटे संबित (सोमू) की पत्नी मधुस्मिता (सीमा) को दूसरी शादी की अनुमति दे दी।

दोनों परिवारों की सहमति से मेरी बहू मधुस्मिता की नयापल्ली भुवनेश्वर के “लक्ष्मी मंदिर” परिसर में शादी धूमधाम से सम्पन्न हुई। इस दौरान उनके पिता नीलामणि पांडा, दो भाई सौम्यरंजन और रश्मिरंजन उपस्थित रहे। सभी बालासोर जिले के रेमुना के रहने वाले हैं। ईश्वर से यही प्रार्थना है कि वह बहू का नया दांपत्य जीवन मंगलमय करे।

बताते चलें कि पूर्व विधायक नंदा ढेंकानाल और गोंदिया निर्वाचन क्षेत्रों से दो बार ओडिशा विधानसभा के लिए चुने जा चुके हैं। उनके इस कृत्य की समाज, शहर और सोशल मीडिया पर तारीफ हो रही है।


Posted

in

by

Tags: