कच्चे प्याज का सेवन फायदेमंद होता है लेकिन अगर आपको गलती से भी यह बीमारी है और इसका सेवन करते हों आप तो आज ही सावधान हो जाएं , यह जहर का काम करता है।

कच्चे प्याज का सेवन फायदेमंद होता है लेकिन अगर आपको गलती से भी यह बीमारी है और इसका सेवन करते हों आप तो आज ही सावधान हो जाएं , यह जहर का काम करता है।

गर्मी में प्याज खाने से लू नहीं लगती और तेज धूप से शरीर पर मीठा असर नहीं होता। सर्दियों में यह शरीर को पोषण देता है। भोजन में अपने स्वाद के अनुसार प्याज खाने से सभी पोषक तत्व मिलते हैं।

और मानसून में भोजन के पाचन में मदद करता है। प्याज में बहुत सारे पोषक तत्व और सुरक्षात्मक यौगिक होते हैं जो हमें विभिन्न बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं।

कच्चा प्याज खाने से होगा दूर यह रोग, जानिए इसके फायदे - संदेश

प्याज को हम गरीबों का कस्तूरी इसलिए कहते हैं क्योंकि यह सस्ता और सुलभ होने के साथ-साथ पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

कच्चे प्याज के फायदों के बारे में तो आपने सुना ही होगा, हम आपको बताएंगे कच्चे प्याज के नुकसान के बारे में दोस्तों आपको बता दें कि सच में कुछ खास लोगों को कच्चे प्याज का सेवन नहीं करना चाहिए. इन लोगों के लिए कच्चे प्याज का सेवन घातक हो सकता है।

हृदय सुरक्षा:

दिल की बीमारी से तकनीक की लड़ाई: पांच साल पहले आगाह होगा हार्ट अटैक का खतरा | टेक्नोलॉजी की मदद से जानिए 5 साल से पहले हार्ट अटैक के लक्षण

कच्चे प्याज का सेवन उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके अलावा कच्चे प्याज के नियमित सेवन से बंद धमनियां भी खुल जाती हैं। प्याज रक्त के थक्कों को घोलता है, इस प्रकार हृदय और मस्तिष्क के ट्यूमर में घनास्त्रता के हमलों से बचाता है।

ये निशान कच्चे प्याज के हैं। प्याज गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट को उत्तेजित करता है और पाचन को बढ़ाता है। यह कफनाशक, पौष्टिक, स्फूर्तिदायक, तैलीय, तीखा और मीठा होता है।

प्याज लीवर को उत्तेजित करता है, हृदय गति को नियंत्रित करता है, शरीर की सात धातुओं को मजबूत करता है। थकान दूर करता है।

रक्तचाप:

हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए लें ये 8 चीजें - संदेश

कच्चा प्याज हाई ब्लड प्रेशर को सामान्य रखने में आपकी मदद करता है। यह हृदय रोग के जोखिम को कम करने के लिए रक्त की बंद धमनियों को खोलता है।

कैंसर से बचाव:

जानिए कैंसर समेत बड़ी बीमारियों को दूर करने वाले इस सस्ते फल के बारे में..- जलसा करोने जंतिलाल

कच्चे प्याज में सल्फर की मात्रा अधिक होती है। सल्फर शरीर को पेट, फेफड़े, स्तन और प्रोस्टेट कैंसर से बचाता है। साथ ही यह यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन की समस्या को भी दूर करता है।

दाज़्या पर:

प्याज को दर्द निवारक भी माना जाता है। इसका शीतलन प्रभाव होता है, इसलिए जब भी आप इसे स्केलपेल पर लगाते हैं, तो आपको तुरंत ठंडक मिलती है।

पीरियड्स के दौरान:

जानिए मासिक धर्म में देरी क्यों होती है। - संदेशो

पीरियड्स के दौरान और अगले दिन एक महिला के पेट और पीठ के निचले हिस्से में कितना दर्द होता है, यह समझना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है। लेकिन अगर महिलाएं इन दिनों अपनी डाइट में प्याज का इस्तेमाल करें तो आप इस दर्द से निजात पा सकती हैं।

मधुमेह:

मधुमेह रोगियों के लिए घरेलू उपचार | मधुमेह के लिए घरेलू उपचार

मधुमेह में भी कच्चा प्याज फायदेमंद होता है। आज या कि शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ जाती है। इसलिए मधुमेह रोगियों को प्याज खाने की सलाह दी जाती है।

अगर आपको मधुमेह है तो आपको रोजाना एक कच्चा प्याज खाना चाहिए। कच्चा प्याज शरीर में इंसुलिन पैदा करता है। जो मधुमेह रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद है।

कोलेस्ट्रॉल:

पढ़ें…ये हैं शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजहें, ये खाना+व्यायाम रोकेगा…!!! | ऑनलाइन जिंदगी: जिंदगी कैसी है पहेली है कभी तो हसे, कभी ये रूले

कच्चे प्याज में अमीनो एसिड और मिथाइल सल्फाइड होते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करते हैं।

प्याज में मिथाइल सल्फाइड और अमीनो एसिड होते हैं। जो शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम कर शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाता है।

कब्ज:

रोगों का मूल कारण कब्ज है - संदेश

कच्चे प्याज में उच्च मात्रा में फाइबर होता है और यह हमारे पेट में फंसे भोजन से छुटकारा पाने में हमारी मदद करता है। यह पेट को शुद्ध करता है। जिन लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है उन्हें प्याज जरूर खाना चाहिए।

कच्चे प्याज में मौजूद फाइबर पेट से खाना बाहर निकाल देता है। जिससे पेट भी स्वस्थ रहता है और साफ भी हो जाता है। इसलिए अगर आप कब्ज से पीड़ित हैं तो रोजाना भोजन के साथ एक कच्चा प्याज खाना शुरू कर दें।

मुँहासे पर:

रात भर अपने चेहरे के मुंहासों से छुटकारा पाएं यह घरेलू उपाय - संदेश

आज की युवा पीढ़ी के खान-पान की वजह से मुंहासे जैसी समस्या आम हो गई है। इससे बचने के लिए पानी में प्याज का रस मिलाएं और इससे अपना चेहरा धोना शुरू करें। एक सप्ताह में कैंसर प्रकट होना शुरू हो जाएगा।

खांसी दूर करता है :

सर्दियों में जमी खांसी से छुटकारा पाने के लिए करें ये उपाय - फिटनेस टिप्स

अगर आप सर्दी, खांसी या गले में खराश से पीड़ित हैं तो ताजा प्याज का रस पीना निश्चित रूप से फायदेमंद है। इसके जूस में गुड़ या शहद मिलाकर भी पिया जा सकता है। इसके साथ ही सर्दियों में रोजाना कच्चा प्याज खाने से सर्दी में आराम मिलता है।

बुखार होने पर :

बुखार है? 104 पर कॉल करेंगे तो मिलेगी मदद-राज्य 104 फीवर हेल्पलाइन शुरू करें मैं गुजरात हूँ

यदि आप लगातार बुखार से पीड़ित हैं तो आपको अपने मोज़े में प्याज का एक टुकड़ा डालकर बिस्तर पर जाना चाहिए। प्याज आपके शरीर की गर्मी को कम कर सकता है। 10 से 12 घंटे में बुखार उतर जाएगा।

त्वचा पर:

जुर्राब चाल से पता चलता है कि मौसा और वेरुकास को कैसे हटाया जाए

अगर आपके पैरों की त्वचा है और चलने में दिक्कत हो रही है तो प्याज का रस त्वचा पर लगाएं। ऐसा 5 दिन तक करने से त्वचा निखर जाएगी।

नाक से खून बहना :

गर्मी में नाक से खून आना, खर्राटे आना, जानिए कारण और उपाय। |

नाक से खून निकल रहा हो तो कच्चा प्याज सूंघने से खून आना बंद हो जाएगा। साथ ही अगर आपको बवासीर की समस्या है तो रोजाना एक कच्चा प्याज खाना शुरू कर दें। आपकी समस्या का समाधान हो जाएगा।

इन 2 लोगों को नहीं करना चाहिए कच्चे प्याज का सेवन:

जिगर की समस्याएं:

सप्ताह में एक बार लीवर को साफ करना चाहिए। दो सबसे आसान तरीके जानें - like to Know.com

लीवर की समस्या से पीड़ित लोगों को कच्चा प्याज नहीं खाने की सलाह दी जाती है। उनके लिए कच्चे प्याज का सेवन जहर माना जाता है।

कच्चे प्याज से लीवर की समस्या होने का खतरा बढ़ जाता है जिससे कई समस्याएं हो सकती हैं।अगर आप लीवर की किसी समस्या से पीड़ित हैं तो आज ही कच्चा प्याज खाना बंद कर दें।

एनीमिया:

यह क्या है - रोग एनीमिया क्या है?

इसके अलावा जो लोग एनीमिया से जूझ रहे हैं उन्हें भी कच्चे प्याज का सेवन नहीं करना चाहिए। एनीमिया के कारण व्यक्ति ‘एनीमिया’ नामक रोग से ग्रस्त हो जाता है। इस रोग में आयरन की कमी हो जाती है, जिससे रक्त का उत्पादन कम हो जाता है।

यदि आपके शरीर में खून की कमी है तो अब कच्चे प्याज का सेवन बंद कर दें। कच्चा प्याज खाने से रक्त का स्तर काफी कम हो जाता है और इससे कई समस्याएं हो सकती हैं।

pinal