बूढ़ी मां को 20 साल से कंधे पर उठाकर तीर्थ करा रहे ये ‘कलयुग के श्रवण’, अनुपम खेर भी हुए इनके फैन

अनुपम खेर एक शानदार एक्टर होने के साथ-साथ एक नरम दिल के इंसान भी हैं, और लोगों को समय समय पर इस बात का परिचय देते रहते हैं। अनुपम खेर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं, जिसके जरिए वह हमेशा अपने फैंस से जुड़े रहते हैं। इस बीच अनुपम खेर कैलाश गिरि ब्रह्मचारी नाम के शख्स की तलाश में हैं। अनुपम खेर ने कैलाश गिरी ब्रह्मचारी की एक तस्वीर अपने फैंस के साथ साझा की है, जिसमे साफ़ देखा जा सकता है की एक ब्रह्मचारी अपनी अंधी मां को अपने कंधों पर उठाए हुआ है।

दिग्गज अभिनेता ने सोमवार को उस व्यक्ति की तस्वीर साझा की और उसका पता पूछा। अनुपम खेर ने किए एक ट्वीट के जरिए कैलाश गिरि की मदद करने की इच्छा जाहिर की है, जिन्होंने अपनी मां को कंधे पर उठाकर तीर्थयात्रा के लिए तीर्थ और आर्थिक मदद की अनुपम खेर का ये ट्वीट अब सोशल मीडिया पर छाया हुआ है.

कलयुग के ये है ‘श्रवण कुमार’

अनुपम खेर द्वारा साझा की गई तस्वीर में, कैलाश को एक लंगोटी पहने और अपने कंधों पर दो टोकरियाँ लिए एक बांस लिए देखा जा सकता है, जिसमें वह अपनी माँ को पकड़े हुए हैं। वहीं दूसरी टोकरी में उसने सामान रखा है। कैलाश गिरी की तस्वीर सोशल मीडिया पर देख अनुपम खेर ने उनकी मदद करने की इच्छा जताई है

ये तस्वीरें की है शेयर

कैलाश गिरी की तस्वीर को शेयर करते हुए अनुपम खेर ने कैप्शन में लिखा- ‘तस्वीर में लिखा हुआ विवरण बेहद विनम्र है। दुआ करो कि ये सच हो। तो अगर कोई इस आदमी का पता बता सकता है तो कृपया हमें बताएं। उनकी मां के साथ देश के किसी भी कोने में तीर्थ यात्रा पर जाने का उनका जीवन भर का खर्च हम वहन करेंगे। यूजर्स उनकी काफी तारीफ कर रहे हैं.

अपनी मां को पूरे भारत के विभिन्न मंदिरों के करवा रहे है दर्शन

कैलाश 20 साल से मंदिरों के दर्शन करने के लिए मां को कंधे पर उठाकर ले जा रहे हैं। कैलाश गिरि 20 साल से अपनी मां को कंधे पर उठाकर घूम रहे हैं। तस्वीर वायरल होने के बाद उन्हें ‘कलयुग का श्रवण कुमार’ कहते हुए, कैलाश, जो पिछले 20 वर्षों से अपनी 80 वर्षीय अंधी मां को अपने कंधों पर उठा रहा है, अपनी मां की इच्छाओं को पूरा करने के लिए पूरे भारत के विभिन्न मंदिरों में जाता है। हैं।


Posted

in

by

Tags: