दोनों किडनी हो गई चोरी, फिर भी कैसे ज़िंदा है सुनीता ? डॉक्टरने खोला राज तो हैरान रह गए लोग

यह दुनिया चमत्कारों से भरी हुई है. अक्सर देश दुनिया में कई तरह के ऐसे मामले सामने आते है जिन पर एक पल के लिए तो विश्वास भी करना मुश्किल हो जाता है. एक ऐसा ही मामला हम भी आपको बताने जा रहे है. जहां एक महिला की दोनों किडनियां नहीं है लेकिन फिर भी वो जिंदा है.

अब इसे चमत्कार नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे. एक महिला की दोनों किडनियां नहीं है. लेकिन वो जीवित है. हालांकि अब उसकी हिम्मत जवाब देने लगी है. महिला का नाम सुनीता है. सुनीता का शरीर अब उनका साथ नहीं दे रहा है. एक डॉक्टर के कारण आज वो जीवन और मौत के बीच जूझ रही है.

यह मामला है बिहार के मुजफ्फरपुर जिले का. सुनीता नाम की यह महिला SKMCH में भर्ती है. सुनीता की हिम्मत और उनका शरीर अब जवाब देने लगा है. इसे बीच यह खबर भी आई थी कि उनका साथ इस बुरे समय में उनके पति ने भी छोड़ दिया है हालांकि सुनीता ने बताया कि ऐसा कुछ नहीं है. उसने इन अफवाहों को गलत बताया है.

फर्जी डॉक्टर ने निकाल ली सुनीता की दोनों किडनियां

एक फर्जी डॉक्टर के कारण सुनीता को काफी दुःख दर्द का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल बात यह है कि मुजफ्फरपुर के बरियारपुर ओपी क्षेत्र में एक फर्जी डॉक्टर से सुनीता ने अपने गर्भाशय का इलाज करवाया था. तब फर्जी डॉक्टर ने सुनीता की दोनों किडनियां निकाल ली थी.

बेबस और लाचार सुनीता के दिन इन दिनों SKMCH में काट रहे है. यहां सुनीता का डायलिसिस भी होता है. बता दें कि डायलिसिस के दम पर ही सुनीता जिंदा है. सुनीता की मां ने जानकारी देते हुए बताया है कि उनकी बेटी के लिए किडनी की व्यवस्था नहीं हो पा रही है. मां खुद सुनीता को किडनी दान करने वाली थी लेकिन किसी वजह से ऐसा नहीं हुआ.

वहीं इस मामले पर बात करते हुए इंद्रप्रस्‍थ अपोलो अस्‍पताल में डिपार्टमेंट ऑफ नेफ्रोलॉजी के एचओडी और किडनी ट्रांसप्‍लांट सर्जन प्रोफेसर अमित गुप्‍ता ने बताया कि आखिर कैसे दोनों किडनियां न होने पर कोइ जीवित रह सकता है. उन्होंने बताया कि इस स्थिति में कोई तब तक जिंदा रह सकता है. जब तक कि उसका डायलिसिस होता रहे. बिना डायलिसिस के जीना संभव नहीं है.

डायलिसिस से कब तक बची रहेगी जान

डॉक्टर ने यह तो जरूर कहा कि दोनों किडनियां न होने पर कोई ममरेज डायलिसिस के सहारे जीवित रह सकता है हालांकि डॉक्टर गुप्ता ने यह नहीं बताया कि डायलिसिस के सहारे कोई शख्स कब तक जीवित रह सकता है. लेकिन मरीज को फिर भी सूजन आना, जी मिचलाना, उल्टी आना, भूख न लगना और सांस न फूलने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.


Posted

in

by

Tags: