बिहार के लाल 21 साल की उम्र में बने गूगल इंडिया के वाइस प्रेसीडेंट, अमेरिका ने भी दिया ऑफर

जिले के पिंडारूच के रहने वाले 21 साल के सुप्रभात वत्स (Suprabhat Vatsa) गूगल इंडिया (Google India) के उपाध्यक्ष (Vice-president) बने हैं। उन्होंने बीते 28 अगस्त को हरियाणा के गुरुग्राम स्थित गूगल के कार्यालय में योगदान दिया। अब उन्हें ऑफर आने की लाइन लग गई है और उनकी डिमांड भी बढ़ गई है।

उन्हें अमेरिका की तीन यूनिवर्सिटी क्रमश: आक्सफोर्ड, हार्वर्ड और स्टैनफोर्ड ने कंप्यूटर साइंस (Computer Science) में इंटीग्रेटेड कोर्स विद पीएचडी के लिए फुल छात्रवृत्ति देने की घोषणा की है। साथ ही इस अवधि का वेतन देने की भी घोषणा भी किया, लेकिन वे देश में ही काम करना चाहते हैं।

साइबर सिक्योरिटी समेत 17 विषयों के जानकार

बाल्यकाल से ही पढऩे में मेधावी सुप्रभात (Suprabhat Vatsa) ने कंप्यूटर साइंस के उन 17 विषयों पर गहराई से अध्ययन किया है, जो देश की साइबर सुरक्षा के लिए अहम है। इनमें साइबर सिक्योरिटी, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के सिवाय अगले 10 से 20 वर्ष में मानव मस्तिष्क को हैक करने से बचाने की विधा समेत कुल 17 विषय सम्मिलित हैं ।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से प्रभावित सुप्रभात देश की साइबर सुरक्षा के लिए कार्य करना चाहते हैं। वे इससे पहले टीसीएस (TCS), इंफोसिस, एक्सेंचर, जेपी मोर्गन सहित अन्य कंपनियों में कार्य कर चुके हैं। इतनी IT कंपनी में काम करने के बाद अब ने IT क्षेत्र के बड़े जानकार बन चुके है।

बचपन से ही पढऩे में मेधावी

सुप्रभात (Suprabhat) की शुरूआती पढ़ाई सहरसा जिले में हुई। इनके पिता प्रो विनय कुमार चौधरी सहरसा के राजेंद्र मिश्र महाविद्यालय में पदस्थापित रहे। डीपीएस सहरसा से 2017 में स्नातक उत्तीर्ण किया।

फिर कोलकाता की एडमास यूनिवर्सिटी में बी-टेक (कंप्यूटर साइंस) किया। बीटेक के तृतीय वर्ष में ही इन्होंने अमेरिका की स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से कंप्यूटर साइंस में विशेषज्ञता प्राप्त की। अमेरिका की हार्वर्ड विश्वविद्यालय और जर्मनी की डियोलाइट से भी जुड़े।

आपको बता दें की भारत के कंप्यूटर इंजीनियर और आईटी विशेषज्ञ (IT Experts) पूरी दुनिया में हर कंपनी में कार्यरत हैं और भारत को IT एक्सपर्ट्स का एक्सपोर्टर (India is exporter of IT Experts) भी जहा जाने लगा है।

विदेश में भी भारत के IT एक्सपर्ट्स की बहुत डिमांड है और बड़ी बड़ी IT और टेक कंपनियों के शीर्ष पदों पर कोई ना कोई भारतीय या भारतीय मूल का शख्स भी विराजमान है। यह खबर हर भारतीय के लिए बड़े गर्व की बात है।


Posted

in

by

Tags: