अब भारत और नेपाल के बीच एक स्पेशल ट्रेन चलेगी, मात्र ढाई घंटे में आप काठमांडू में होंगे

अब भारत और नेपाल के बीच एक स्पेशल ट्रेन चलेगी, मात्र ढाई घंटे में आप काठमांडू में होंगे

Delhi: नेपाल (Nepal) हमारे देश का सबसे करीबी पड़ोसी देश है। इससे हमारा नाता एक बहन की तरह है। अक्‍सर ही नेपाल के लोग हमारे देश में आते है और यही बस जाते है। हमारे देश से भी हर साल बहुत से लोग नेपाल जाते है।

नेपाल की खूबसूरती किसी से छिपी नहीं है हमारे देश से नेपाल घूमने हर साल लोग जाते है। नेपाल को पर्यटन (Tourism) के हिसाब से हमारे देश के लोग सबसे ऊपर रखते है। ऐसा इसलिए भी है, क्‍योंकि नेपाल जाने में हमारे देश के लोगों को किसी भी प्रकार के वीजा की आपश्‍यकता नहीं पड़ती है।

भारत से नेपाल के बीच चलेगी नई क्रॉस बॉर्डर ट्रेन

लोगों की पसंद और नेपाल से देश के साथ संबंध को लेकर हमारी सरकार तथा नेपाल सरकार के द्वारा एक बहुत ही बड़ा डिसिजन लिया गया है। नेपाल तथा भारत देश अब मिलकर नई रेल सेवा (Railway Service) को शुरू करने वाली है। जिस रेल सेवा को इन दोनों देश द्वारा शुरू किया जा रहा है, वह भारत देश के जयनगर से निकलकर नेपाल देश के कुर्धा तक जाने वाली है।

यह ट्रेन नई क्रॉस बॉर्डर वाली ट्रेन (Cross Border Train) होगी। इस ट्रेन को हमारे देश भारत के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी तथा नेपाल देश के प्रधानमंत्री शेर देउबा के द्वारा शुरू करने का डिसिजन ले लिया गया है। इस ट्रेन की क्षमता की बात करें, तो यह ट्रेन 1000 यात्री को जयनगर से कुर्धा (Jayanagar to kurta) तक लेकर जायेगी।

नेपाल में अब रेल लिंक बर्दीबास तक बढ़ेगी

आपको बता दे कि भारत और नेपाल के बीच में रेल सेवा 1937 में अंग्रेज हुकुमत के समय में जयनगर से बिजलापुर तक के लिये प्रारंभ की गई थी। जब 2001 में बाढ़ आई तो यह रेल लिंक पूरी से बर्बाद हो गई थी।

अब इसे फिर से ठीक करके रेल लिंक नेपाल देश के बर्दीबास तक बनाया जा रहा है। इस लिंक पर चलने वाली ट्रेन को नेपाल देश की रेलवे कंपनी द्वारा संचालित किया जायेगा। इस ट्रेन के संचालन की कमान इरकॉन नाम की इंटरनेशनल कंपनी को सौपी गई है।

यह रेल लिंक होगी पहली ब्रॉडगेज पैंसेंजर लिंग

यह जो रेल लिंक बनाई जायेगी, वह जयनगर से कुर्धा के बीच में होगी। जिसके बनाने का खर्चा लगभग 383 करोड़ रूपये का आयेगा। कहा जा रहा है कि यह रेल लिंक दोनो ही देश के बीच में चलने वाली पहली ब्रॉड गेज पेसेंजर लिंक होगी।

इस ब्रॉड गेज में रेल गेज पटरी के मध्‍य की दूरी 1676 मिमी तक होगी। यानि की 5 फीट 6 इंच के लगभग। वही पटरी के मध्‍य की मिनिमन दूरी को 1435 मिमी निर्धारित किया गया है। जयनगर शहर की बात करे तो यह भारत तथा नेपाल देश की जो सीमा है, उससे सिर्फ 4 किलोमीटर के अंतर में है।

Indian Railway Train

इस परियोजना की लंबाई की बात करे तो यह हमारे देश भारत में 2.95 किलोमीटर तथा नेपाल में पूरे 65.75 किलोमीटर की होगी। इस रेल लिंक (Rail Link) के मध्‍य में 8 स्‍टेशन तथा 6 हाट स्‍टेशन आयेंगे।

वही इनरवा स्‍टेशन की बात करे, तो यहॉं पर कस्‍टम प्‍वाइंट भी बनाये जा रहे है। कुल मिलाकर यह रेल लिंक भारत तथा नेपाल के रिश्‍ते को मजबूत करने में अहम भूमिका निभायेगी। उम्‍मीद है कि यह रेल सेवा जल्‍द ही शुरू होगी।

pinal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This will close in 5 seconds