राजस्थान के इस घर में एकसाथ 185 लोग रहते है , 80 किलो आटा खाते है ये एक दिन में…!

जहां एक तरफ लोग अपने माता पिता को छोड़ कर अकेले बसने लगते हैं वही इस कलयुग के दौर में एक परिवार ऐसा भी है जो इन दिनों मिसाल बनकर कायम हुआ है. दरअसल यह परिवार राजस्थान का रहने वाला है जिसमें कुल 181 सदस्य हैं.

इसके साथ ही यह परिवार देश का सबसे बड़ा परिवार भी माना जाता है. अजमेर के एक घर में रहने वाला यह परिवार कुल 185 सदस्य से परिपूर्ण है. दरअसल यह पूरा परिवार नसीराबाद उपखंड के रामसर गांव में रह रहा है और सभी एक साथ रहने के बावजूद भी काफी खुशहाल जिंदगी व्यतीत कर रहे हैं.

परिवार के मुखिया की बात की जाए तो इनका मुखिया भंवर लाल माली है जो कि परिवार के सब बढ़े और अहम फैसले लेता है. इसके अलावा इस परिवार की एक खासियत यह भी है कि यहां पर रोजाना 75 किलो आटे की रोटियां बनती हैं

जिनको पकाने के लिए 10 चूल्हों की जरूरत पड़ती है. परिवार में कुल 55 पुरुष हैं और 55 ही महिलाएं हैं जिनके 75 बच्चे हैं. ऐसे में देखा जाए तो इस परिवार में कुल 125 मतदाता हैं ऐसे में जब भी सरपंच या फिर किसी अन्य चुनाव की बारी आती है तो परिवार को विशेष महत्व दिया जाता है.

दादा से मिली थी

एक साथ रहने की सीख, परिवार के बेटे भागचंद माली ने बताया कि उनके दादा सुल्तान माली थे जिन्होंने उन्हें हमेशा एक साथ रहने की सीख दी थी. सुल्तान माली के कुल 6 बेटे थे जिनमें से भागचंद मालिक के पिता भवर लाल सबसे बड़े हैं और बाकी उनके छोटे भाई राम चंद्र, मोहन, शगन, बिरदी चंद और छोटू हैं. परिवार वालों का कहना है कि उन्होंने दादा सुल्तान माली से ही उन्हें एक साथ रहने की सीख मिली थी और उनके दादा ने ही हमेशा उनको एक साथ जोड़ कर रखा हुआ था.

यह है संयुक्त परिवार में

रहने के फायदे, अपने परिवार के बारे में जानकारी देते हुए बेटे भागचंद माली ने बताया कि उनका परिवार खेती पर निर्भर करता है लेकिन जैसे-जैसे उनका परिवार बढ़ता चला जा रहा है वैसे वैसे उन्होंने कमाई के साधन भी बढ़ा दिए हैं और साथ ही डेरी भी खोल ली है

और बिल्डिंग के मटेरियल को प्रोवाइड करवाने का काम भी शुरू कर दिया है. परिवार के मुखिया भवर लाल का कहना है कि संयुक्त फैमिली में जो मजा है वह उन्हें कहीं नहीं मिला है क्योंकि एक साथ रहकर किसी भी काम का बोझ एक अकेले व्यक्ति पर नहीं पड़ता है.

इसके अलावा परिवार में एक साथ रहकर एक दूसरे की आर्थिक रूप से भी मदद कर सकते हैं. गौरतलब है कि हमेशा से एकसाथ रहने वाले इस परिवार में सबकी एक-दूसरे से अच्छी जमती है और लड़ाई- झगड़े भी कम ही होते हैं.


Posted

in

by

Tags: