‘शौचालय बनवा लो तभी मायके लेने आना’, कहकर ससुराल छोड़ लौट गई नई नवेली दुल्हन

अलीगढ़ में एक नवविवाहिता ने अपना ससुराल इसलिए छोड़ दिया क्योंकि वहां पर शौचालय नहीं था. नवविवाहिता ने बताया कि वह कभी अपने मायके में खुले में शौच करने नहीं गई थी. नवविवाहिता मायके जाते हुए बोली कि जब शौचालय बन जाए तब मायके बुलाने आ जाना.

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां पर शौचालय न होने की वजह से एक नवविवाहिता ने अपना ससुराल छोड़ दिया. बताया जा रहा है कि गरीबी की वजह से ससुराल के लोग एक कमरे में गुजर बसर करते हैं.

इस बीच शादी होकर दुल्हन घर पर आई. कुछ दिन तो उसने जैसे तैसे गुजारे. लेकिन घर में शौचालय न होने के चलते वो ससुराल छोड़कर मायके चली गई. नवविवाहिता ने बताया कि वह कभी अपने मायके में खुले में शौच करने नहीं गई थी. लेकिन शादी होने के बाद ससुराल में उसको घर में शौचालय ही नहीं

नवविवाहिता मायके जाते हुए बोली कि जब शौचालय बन जाए तब मायके बुलाने आ जाना.

यह मामला अलीगढ़ की तहसील खैर क्षेत्रान्तर्गत थाना टप्पल इलाके के कस्बा जट्टारी के मोहल्ले का है. जहां पर गज्जो और उसका बेटा कमल मजदूरी और कबाड़ बीन कर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं.

जानकारी के मुताबिक, गज्जो की पत्नी की कुछ महीने पहले ही बीमारी के कारण मृत्यु हो गई थी, जिसके बाद गज्जो ने अपने बेटे कमल की शादी जिला प्रयागराज के गांव तकीपुर निवासी खुशी के साथ कर दी.

अशिक्षित होने की वजह से नहीं मिली सरकारी सुविधा

घर में आई नवविवाहिता कुछ समय तो रही पर शौचाल न होने के चलते वो ससुराल छोड़कर अपने मायके चली गई. जिसकी वजह से परिवार को काफी शर्मिंदगी उठानी पड़ रही है. कमल और उसके पिता गज्जो का कहना है कि वह अशिक्षित हैं. उनको किसी भी प्रकार की सरकारी सुविधा, सरकारी घर, मुफ्त शौंचालय नहीं मिल सका है. साथ ही आधार और राशन कार्ड तक नहीं बन पाया है.

घर पर शौचालय बनाने का काम शुरू 

वहीं स्थानीय महिला ने बताया है कि यह परिवार बेहद गरीब है. कमल की पत्नी के घर छोड़कर जाने के बाद इलाके के एक समाजसेवी को जानकारी हुई तो उन्होंने घर में शौचालय बनवाना प्रारंभ किया. कमल को उम्मीद है कि अब उसकी पत्नी घर लौट आएगी.


Posted

in

by

Tags: