अमीरी के मामले में एलन मस्क को पछाड़ने की तैयारी में है अडानी,एक दिन में कमाए 65000 करोड़, बस पांच कदम दूर

दोस्तों हर इंसान का सपना होता है कि वह दुनिया का सबसे अमीर आदमी बन जाए उसके पास इतनी दौलत हो कि वो दुनिया की हर बेशकीमती चीज़ खरीद सके .ऐसे सपने तो सब देखते  है लेकिन उन्हें पूरा करने का जज्बा किसी -किसी में होता है .इस दुनिया में ऐसे बहुत से लोग है

जो आज भी ये  सपने देख रहे है और कुछ लोग ऐसे भी है जो इन सपनो को पूरा करने में लगे हुए हो और कुछ इस सपने को  पूरा कर चुके है और  आलीशान जिन्दंगी जी रहे है .आज उन लोगो का का नाम दुनिया के सबसे अमीर आदमियों की लिस्ट में शामिल है .

आज हम आपको ऐसे ही एक भारतीय के नागरिक के बारे बताने वाले है जिन्होंने कितने ही अरबपतियो को पछाड़ कर दुनिया के सबसे अमीर आदमियों की लिस्ट में छठे नबर पर अपना स्थान बनाया है .भारत के उस शख्स के बारे में जानने के लिए लेख को अंत तक जरुर पढ़े .

अडानी समूह के संस्थापक और अध्यक्ष, ऊर्जा, बंदरगाह, खनन, खाद्य तेल जैसे क्षेत्रों में अपनी धाक जमानेवाले गौतम अडानी जिनकी कुल संपत्ति $118 बिलियन है, अब दुनिया के छठे सबसे अमीर व्यक्ति बन गये हैं। अडानी समूह के सूचीबद्ध शेयरों के मूल्य में भारी वृद्धि के बाद ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार,

59 वर्षीय बिजनेस टायकून ने Google के प्रसिद्ध संस्थापकों लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन को पीछे छोड़ दिया है। टॉप-10 की सूची में अडानी इकलौते भारतीय हैं। अडानी समूह के शेयर की कीमतों में सोमवार को हुई तेजी से गौतम अडानी की कुल संपत्ति में 8.57 अरब डॉलर यानी करीब 65,091 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ।

11वें नंबर पर रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी हैं। अडानी से आगे सिर्फ एलोन मस्क, जेफ बेजोस, बर्नार्ड अरनॉल्ट, बिल गेट्स और वॉरेन बफेट हैं। गौतम अडानी की कुल संपत्ति 118 अरब डॉलर (करीब 8.9 लाख करोड़ रुपये) है जबकि मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति 97.4 अरब डॉलर (करीब 7.4 लाख करोड़ रुपये) है।

अडानी ने गूगल की होल्डिंग कंपनी अल्फाबेट के संस्थापक लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन को पीछे छोड़ते हुये छठे स्थान पर पहुंच गये हैं। लैरी पेज की कुल संपत्ति 116 अरब डॉलर (करीब 8.8 लाख करोड़ रुपये) और सर्गेई ब्रिन की कुल संपत्ति 111 अरब डॉलर (करीब 8.4 लाख करोड़ रुपये) है।

अडानी 4 अप्रैल को सेंटीबिलियनेयर्स क्लब में शामिल हुये थे। 100 अरब डॉलर से अधिक की संपत्ति वाले व्यक्तियों को सेंटीबिलियनेयर कहा जाता है। इससे एक साल पहले यानी अप्रैल 2021 में अडानी की नेटवर्थ 57 अरब डॉलर थी।

अडानी समूह की सात सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध कंपनियां हैं जिनका संयुक्त बाजार पूंजीकरण $200 बिलियन से अधिक है। अडानी एशिया में पहले और मुकेश अंबानी नेटवर्थ के मामले में दूसरे नंबर पर हैं। वित्त वर्ष 2021-2022 में अडानी की नेटवर्थ दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ी है।

इस संदर्भ में यहां यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि अदानी ग्रीन एनर्जी, अदानी एंटरप्राइजेज, अदानी गैस और अदानी ट्रांसमिशन के शेयर की कीमतों में सोमवार को बढ़ोतरी के कारण अदानी की कुल संपत्ति 8.57 अरब डॉलर या लगभग 65,091 करोड़ रुपये बढ़ गई।

जहां भारत के बेंचमार्क सूचकांकों ने सोमवार को दिन का अंत किया, वहीं अदानी समूह के शेयरों में 16 फीसदी तक की तेजी आई। अपनी निजी संपत्ति में लगभग 41.6 अरब डॉलर की छलांग के साथ, गौतम अडानी इस साल दुनिया के सबसे बड़े धन-संपदा वाले व्यक्ति हैं।

अहम सवाल यह है कि अडानी को इतना अमीर, इतना तेजी से अमीर आखिर किसने बना दिया? टाइकून स्वच्छ ऊर्जा, हवाई अड्डों और बिजली संयंत्रों में जोर दे रहा है। अडानी को शीर्ष स्थान पर पहुंचाने वाले मेगा शेयर बाजार में अडानी ग्रीन एनर्जी है।

बीएसई पर सोमवार को कंपनी के शेयर 16.25 फीसदी की तेजी के साथ 2,701.55 रुपये पर बंद हुये। इसने शीर्ष -10 मूल्यवान कंपनियों की सूची में प्रवेश किया क्योंकि इसका बाजार मूल्यांकन 4.22 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गया। मस्क या गेट्स नहीं, इस भारतीय टाइकून ने पिछली तिमाही में अधिक पैसा कमाया।

पिछले हफ्ते, अडानी सेंटीबिलियनेयर्स क्लब के नए सदस्य के रूप में 100 अरब डॉलर की संपत्ति तक पहुंच गए थे। यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि अमेज़ॅन के संस्थापक जेफ बेजोस (वर्तमान में $ 176 बिलियन की कुल संपत्ति है)

माइक्रोसॉफ्ट के बाद 2017 में $ 100 बिलियन का मील का पत्थर हासिल करनेवाले पहले व्यक्ति थे। 1999 में एक संक्षिप्त अवधि के लिए सह-संस्थापक बिल गेट्स, टेस्ला के मुख्य कार्यकारी मस्क, जो अब 249 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं, 2020 में एलीट क्लब में शामिल हुए।


Posted

in

by

Tags: