82% महिलाएं अपने पति को सीधे यौ*न संबंधों के लिए कहती हैं “ना”! 66% पुरुष कहते हैं, ‘इट्स ओके’

सर्वेक्षण के आंकड़ों से महत्वपूर्ण मुद्दे सामने आए। 15 से 49 वर्ष की आयु के पुरुषों ने अपने विचार बताए।

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण (एनएफएचएस) की रिपोर्ट से अहम आंकड़े सामने आए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक, देश में विवाहित महिलाएं सीधे तौर पर अपने पति के साथ यौ*न संबंध बनाने से सीधा इनकार करती हैं। इनकार की यह दर और इसके आंकड़े चौंकाने वाले हैं।

82 फीसदी विवाहित महिलाएं अपने पति के साथ यौ*न संबंध बनाने से इनकार करने में सक्षम हैं। अगर पत्नी थकी हुई है और वह रिश्ते से इनकार करती है, तो यह एक वैध कारण है और इसे ईमानदारी से स्वीकार किया जाना चाहिए, 66 प्रतिशत पुरुषों ने बताया।

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-5 के आंकड़े जारी किए गए हैं। इनमें से 32 फीसदी विवाहित महिलाएं हैं। यह अनुपात एक तिहाई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडवी ने हाल ही में इस संबंध में एक रिपोर्ट सौंपी थी। पिछले हफ्ते जारी की गई रिपोर्ट के आंकड़े कई सवाल खड़े करते हैं।

यह अनुपात एक तिहाई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडवी ने हाल ही में इस संबंध में एक रिपोर्ट सौंपी थी। पिछले हफ्ते जारी की गई रिपोर्ट के आंकड़े कई सवाल खड़े करते सकती हैं।

कैसे किया गया सर्वे? : सर्वेक्षण दो चरणों में किया गया था। सर्वेक्षण का पहला चरण 17 जून 2019 से 30 जनवरी 2020 तक 17 राज्यों में आयोजित किया गया था। इसके बाद 2 जनवरी 2020 से 30 अप्रैल 2021 तक कुल 11 राज्यों और तीन केंद्र शासित प्रदेशों में सर्वे किया गया।

सर्वे के दौरान पुरुषों से उनकी पत्नियों के साथ उनके यौ*न संबंधों के बारे में पूछा गया, जिसमें उन्हें चार विकल्प दिए गए। अगर पत्नी से *क्स करने से मना कर देती है तो पुरुष इस पर कैसे रिएक्ट कर सकते हैं, इसके जवाब में चार विकल्प दिए जाते हैं।

सर्वेक्षण के आंकड़ों से महत्वपूर्ण मुद्दे सामने आए। 15 से 49 वर्ष की आयु के पुरुषों ने अपने विचार बताए। इनमें से 72 प्रतिशत पुरुषों ने चारों विकल्पों को स्वीकार नहीं किया। छह प्रतिशत पुरुष सभी चार विकल्पों से सहमत हैं। लगभग सभी राज्यों में, सभी चार विकल्पों को स्वीकार नहीं करने वाले पुरुषों की संख्या 70 प्रतिशत से अधिक बताई गई थी।

इस बीच पंजाब, कर्नाटक और लद्दाख में यह अनुपात 50 फीसदी से भी कम पाया गया। पंजाब में, 21 फीसदी पुरुषों ने सभी चार विकल्पों को पसंद किया, चंडीगढ़ में 28 फीसदी, कर्नाटक में 45 फीसदी और लद्दाख में 46 फीसदी पुरुषों ने सभी चार विकल्पों को पसंद किया।

पिछली बार की तुलना में इस साल काम करने वाली विवाहित महिलाओं का प्रतिशत बढ़ा है। लेकिन यह अनुपात बहुत छोटा है। काम करने वाली विवाहित महिलाओं के प्रतिशत में सिर्फ एक प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पहले की एक रिपोर्ट में 31 फीसदी विवाहित महिलाएं काम कर रही थीं। इस साल की रिपोर्ट में यह आंकड़ा बढ़कर 32 फीसदी हो गया है.


Posted

in

by

Tags: